51

सच सुनने से न जाने क्यों कतराते हैं लोग…! सुन कर झूठी तारीफ, खूब मुस्कुराते है लोग…!! *******पूरी दुनिया स्वार्थी है , भगवान ही एक सारथी है… *******"ना खुशी खरीद पाता हूं और ना गम बेच पाता हूं फिर भी ना जाने क्यूं हर रोज बाजार जाता हूं। *******हौंसला मत हार, गिरकर ऐ मुसाफिर,.. अगर दर्द यहाँ मिलता है तो, दवा भी यहीं मिलेगी…! *******कोन कहेता है की दोस्ती बराबरी वालो में होती है.. सच तो ये है की दोस्ती में सब बराबर होता है. *******उसकी हसरत को मेरे दिल में लिखने वाले ! काश उसे भी मेरे नसीब में लिखा होता !! *******तुजे किस्मत समझ कर सीने से लगाया था, भूल गए थे के किस्मत बदलते देरनहीं लगती…!! *******इसलिए खामोश रह के उम्र पूरी काट दी… ज़िन्दगी तुझसे बहस का फायदा कोई नहीं… *******हर रोज इतना मुस्कुराया करो की ग़म भी कहे…. यार…. मै गलती से कहा आ गया…!! *******अच्छा हुआ……तुम किसी और के हो गए। खत्म हो गई फिक्र………..तुम्हेँ अपना बनाने कि। *******

जरूरी नहीं जो खुशि दे उसीसे प्यार करो। सच्ची मुहोब्बत तो अक्सर दिल तोडने वालों से ही होती है। *******

किसी की आँखों से आंसू पोछना भी स्वच्छ भारत का अभियान है । *******

मुझ में बेपनाह मुहब्बत के सिवा कुछ भी नही, तुम अगर चाहो तो मेरी साँसो की तलाशी ले लो.. *******

क्यों तुझे पाने के लिये मिन्नते करु । मुझे तुझसे मुहोब्बत है कोइ मतलब तो नहीं ॥ *******

जिंदगी तू ही बता तुझे कैसे प्यार करू… तेरा हर एक दिन मेरी उम्र कम कर देती हैं..! *******

शायद "वेद" पढ़ना आसान हो सकता है …… लेकिन किसी की "वेदना" पढ़ना कठिन है …….!! *******

दम तोड देती हे माँ बाप की ममता, जब बच्चे ये कहते हे की तुमने हमारे लिए किया ही क्या है? *******

एक उम्र है जो तेरे बगैर गुज़ारनी है, और एक लम्हा भी तेरे बगैर गुज़रता नही…. *******

रेल में खिड़की के पास बैठ के हर दफ़ा महसूस हुआ है, जो जितना ज्यादा क़रीब है वो तेजी से दूर जा रहा हे। *******

कौन कहता है सवारने से बढती है ख़ूबसूरती… जब दिल में चाहत हो तो चेहरे अपने आप निखर जाते है…!! ******* मुझे तो तुमसे नाराज होना भी नहीँ आता… न जाने तुम से कितनी मोहब्बत कर बैठा हूँ मैँ.!! *******

बेरंग हैं पानी फिर भी जिन्दगी कहलाता हैं, ढेर सारे रंग हैं शराब के फिर भी गन्दगी कहलाती हैं।। लोग भी कमाल करते हैं… जिन्दगी के गम भुलाने के लिये, गन्दगी में जिन्दगी मिलाकर पीते हैं… *******

कोई नही आऐगी मेरी जिदंगी मेँ तुम्हारे सिवा, एक मौत ही है जिसका मैं वादा नही करता…….. ।।

रोज रोते हुए कहती है जिंदगी मुझ से , सिर्फ एक शख्स की खातिर मुझे बर्बाद ना कर !! ******* वक्त ही नहीं मिलता मुझे दुखी होने का, क्योंकि.. उम्मीद ही नहीं करता मैं ज्यादा खुशी की ….!! ******* फिर नींद से जाग कर आस-पास ढ़ूढ़ता हूँ तुम्हें… क्यूँ ख्वाब मे इतने पास आ जाती हो तुम…. ******* मीठी बाते ना कर ऐ नादान परिंदे…, इंसान सुन लेगा तो पिंजरा ले आएगा… ******* सुना है तुम्हारी एक निगाह से क़तल होते हैं लोग, एक नज़र हमको भी देख लो कि ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती… ******* हथेली पर रखकर नसीब, हर शख्स अपना मुकद्दर ढूँढ़ता है, सीखो उस समन्दर से, जो टकराने के लिए पत्थर ढूँढ़ता है…. ******* क्या पता था कि महोब्बत हो जायेगी, हमें तो बस तेरा मुस्कुराना अच्छा लगा था.. ******* अपने किस किस राज को, बे पर्दा करुं दोस्तों.. जिस उम्र मे अक्ल आती है, उस उम्र में हम मुहब्बत कर बैठे..! ******* झुठी शान के परिंदे ही ज्यादा फड़फड़ाते हैं.. तरक्की के बाज़ की उडान में कभी आवाज़ नहीं होती । ******* आँखों से आंसू न निकले तो दर्द बड जाता है; उसके साथ बिताया हुआ हर पल याद आता है. शायद वो हमें अभी तक भूल गए होंगे; मगर अभी भी उसका चेहरा सपनो में नज़र आता है. ******* सोचता हूँ कि तेरे दिल में उतर के देख लूँ ,, क्या बसा है ,जो मुझे बसने नहीं देता !! ******* तेरे बाद किसी को प्यार से ना देखा हमने, हमें इश्क का शौक है आवारगी का नहीं… ******* कौन चाहता है रिहा होना तेरी यादों से, ये तो वो क़ैद है जो जान से ज़्यादा अजीज़ है…..!! ******* घर अपना बना लेते हैं, जो दिल में हमारे.. हम से वो परिंदे, उड़ाये नहीं जाते….! ******* न रुकी वक़्त की गर्दिश और न ज़माना बदला.. पेड़ सुखा तो परीन्दो ने, ठिकाना बदला…! ******* हमने सोचा के दो चार दिन की बात होगी लेकिन, तेरे ग़म से तो उम्र भर का रिश्ता निकल आया…! ******* बस आपकी ये अदाओं को देख कर दो लाईने लिख दी… वरना शायर तो हम भी नहीं। ******* मैं इज़्ज़त करता हूँ सिर्फ दिल से चाहने वाले की..!! हुस्न तो आज कल बाज़ार में भी बिकते हैं..!!! ******* खुदा करे, सलामत रहें दोनों हमेशा. एक तुम और दूसरा मुस्कुराना तुम्हारा:) ******* ये जो तुमने अपना अन्दाज बदला है..,, वाकई मे बदला है.. या फिर किसी बात का “बदला” है…!! शेर चाहे किसी भी नस्ल का हो … कुत्तों पर हमेशा भारी पड़ता है… ******* हर बार हम पर इल्ज़ाम लगा देते हो मोहब्बत का, कभी खुद से भी पूछा है , इतने खूबसूरत क्यूँ हो ??? ******* हम क्या बताएं हमारे दिल का नसीब… हम जिसको चाहते है उनसे मिलना तो दुर…हररोज देखना तक ‘किस्मत’ में नहीं है… ******* गुन्हेगार तो सब बनते है.. हमें तो बस यादगार बनना है. ******* यूं अकड मे रहना बंद कर दें, वो तो प्यार है तूजसे… वरना गरज तो किसी के बाप की भी नहीं… ******* हम उन दिनों अमीर थे …… जब तुम करीब थे …… ******* मुझसे नफरत ही करनी है तो इरादे मजबूत रखना…. जरा सा भी चूके तो मोहब्बत हो जायेगी……… ******* बस एक शख्स मेरे दिल की जिद है, ना उससे ज्यादा चाहिए ना कोई और चाहिए ! ******* किसी के लिए कभी इस दिल ने बूरा नहीं चाहा, ये बात और हैं के मुझे ये साबित करना नहीं आया…. *******