49

बेटियों के जन्म पर मातम मनाने वालों… . आज उस घर में जाकर देखो जहाँ बेटियाँ नही है ।। ******* जिस दिन अख़बार में छपेगा ये समाचार, के देश में नही हुआ एक भी बलात्कार, उसी दिन सार्थक होगा रक्षाबंधन का त्यौहार…. *******वो दुआएं काश मैने दीवारों से मांगी होती,, ऐ खुदा…… सुना है कि उनके तो कान होते है… ******* बेटी को गर्भ में मारने वाले परिवार के लड़को को सूनी कलाई मुबारक हो। ‪*******तुझसे अच्छे तो मेरे दुश्मन निकले….; जो हर बात पर कहते हैं.. ‘तुम्हें नहीं छोड़ेंगे” *******चेहरे पर सुकून तो बस दिखाने भर का है.. वरना बेचैन तो दिल जमाने भर का है…!.. *******चलो दूर चलते है इस इंटरनेट से… घर के रिश्ते “इंतजार” कर रहे है…. ******* “दीन तो कुतो के आते है, अपना तो जमाना आयेगा.!” अक्सर वही लोग उठाते हैं हम पर उंगलिया… जिनकी हमें छूने की औकात नहीं होती… *******अजब ज़ज्बा है जवानी मेँ इश्क करने का उम्र जीने की और शौक मरने का… *******जंगल मे जब शेर चैन की निन्द सोता है, तो कुतो को गलतफहमी हो जाती है के इस जंगल मे अपना राज है… *******मैं सब जगह हूँ…|| पसंद करने वालों के “दिल” में, और नापसंद करने वालों के “दिमाग” में… *******सब कुछ मिल जाये तो जीने का क्या मजा, जीने के लिए एक कमी भी जरूरी है… *******दर्द सेहने की आदत कुछ इस कदर हाे गई, की जब दर्द नहीं मिलता ताे दर्द हाेता है..!! *******छोटे थे तो सब नाम से बुलाते थे बड़े हुए तो बस काम से बुलाते है! *******एक तेरी ख़ामोशी जला देती है इस पागल दिल को; बाकी तो सब बातें अच्छी हैं तेरी तस्वीर में !!! ******* एक बस तुम से बात हो जाए तो रात को दिल कहता है.. “आज दिन अच्छा था”……. *******हम रखते है ताल्लुक तो निभाते है जिंदगी भर, हम से बदले नहीं जाते रिश्ते, लिबासो की तरह. *******मत पूछ के किस तरह से चल रही है जिन्दगी…….,,, उस दौर से गुजर रहे है…..,,जो गुजरता ही नही..! *******जब हो थोड़ी फुरसत, तो अपने मन की बात हमसे कह लेना……. बहुत खामोश रिश्ते…. कभी जिंदा नहीं रहते……. *******जहर … मरने के लिए थोडा सा.. ! लेकिन. जिंदा रहने के लिए ……. बहुत सारा पीना पड़ता है ..!! *******ख़ुशी तकदीरो में होनी चाहिए, तस्वीरो में तो हर कोई खुश नज़र आता है… *******परेशान न हो, में गम में नहीं हुं, सिफॅ मुस्कराने कीआदत चली गई हैं ! *******निग़ाहों में अभी तक दूसरा कोई चेहरा ही नहीं आया.. !! भरोसा ही कुछ ऐसा था,तेरे लौट आने का…!! *******सिर्फ ख्वाबो से ही नही मिलता सुकुन सोने का , किसी की याद मे जागने का मजा ही कुछ और है… *******तुझमेँ और मुझमेँ फर्क है सिर्फ इतना, तेरा कुछ कुछ हूँ मैँ,और मेरा सब कुछ है तू….. *******अजीब सी बेताबी है तेरे बिना, रह भी लेते है और रहा भी नही जाता… *******नरम नरम फूलों का रस निचोड़ लेती है.. पत्थर के दिल होते है तितलियों के सीने में… *******पलकें खुली सुबह तो ये जाना हमने, मौत ने आज फिर हमें ज़िन्दगी के हवाले कर दिया.! *******कितनी छोटी सी दुनिया है मेरी, एक मै हूँ और एक दोस्ती तेरी…!! *******तम्मन्ना है की कोई हमारी सख्शियत से भी प्यार करे। वरना हैसियत से प्यार तो तवायफ़े भी करती हैं। *******न करवटे थी न बेचैनियाँ थी,, क्या गजब की नीँद थी मोहब्बत से पहले… ******* मैं क्या महोब्बत करूं किसी से, मैं तो गरीब हूँ…. लोग अक्सर बिकते है, और खरीदना मेरे बस में नहीं…. *******उसने यह सोचकर अलविदा कह दिया…… गरीब लोग हैं, मुहब्बत के सिवा क्या देँगे…..!! *******

बात तो सिर्फ जज़्बातों की है वरना, मोहब्बत तो सात फेरों के बाद भी नहीं होती… *******मोहब्बत भीख है शायद.. बड़ी मुश्किल से मिलती है.!! *******मर जाता हूँ, जब यह सोचता हूँ मै तेरे बग़ैर जी रहा हूँ… *******बचपना अब भी वही है हममें …. बस ज़रूरतें बड़ी हो गयीं हैं …. *******पैदा तो सभी मरने के लिये ही होते है.. पर मौत ऐसी होनी चाहिए, जिस पर जमाना अफसोस करे…!! ******* कभी किसी की, मोहब्बत को मत परखना मेरे दोस्त… क्योकि.. किसी गरीब कपड़ो के अन्दर, एक अमीर दिल मौजूद हो सकता है..! *******ऐ जिंदगी तू सच में बहुत ख़ूबसूरत है…! फिर भी तू, उसके बिना अच्छी नहीँ लगती…!! *******दर्द की चाहत किसे होती है मेरे दोस्त, ये तो मोहब्बत के साथ मुफ़्त में मिलता है..!! *******गुनाह है गर इश्क तो…………… कबूल है मुझे हर सज़ा इश्क की… *******झूठ अगर यह है कि तुम मेरे हो,तो यकीन मानो , मेरे लिए सच कोई मायने नहीं रखता… ******* मैं तेरे नाम का एक सपना हूँ और तू? तू मेरे हिस्से की नींद हैं जो मुझसे दूर… बहुत दूर रहती हैं… ******* खुशियाँ तो कब की रूठ गयी हैं काश की, इस ज़िन्दगी को भी किसी की नज़र लग जाये.. ******* उसे किस्मत समझ कर सीने से लगाया था ए दोस्त….. भूल गये थे के किस्मत बदलते देर नहीं लगती… *******रेस वो लोग करते है जीसे अपनी किस्मत आजमानी हो, हम तो वो खिलाडी है…!! जो अपनी किस्मत के साथ खेलते है. *******तेरी चुप्पी अग़र… तेरी कोई मज़बूरी है.!. तो रहने दे… इश्क़ कौन सा ज़रूरी है..!! *******

साजिश उस खुदा की देखो तो ज़रा... मुझे खुश देखकर मोहब्बत मे डाल दिया.. .शायरी मे सिमटते कहाँ है दिल के दर्द दोस्तो.. बहला रहे है खुद को जरा आप लोगो के साथ.. *******सोचा आज उसके सिवा कुछ और सोचूं, और अभी तक इसी सोच मे हूँ की क्या सोचूँ??!! *******चीजों की कीमत मिलने से पहले होती है, और इंसानों की कीमत खोने के बाद…! ******* कुछ लोगों को क्या खूब खुशियाँ मिलती है, प्यासे को पानी नहीं मिलता, और समुन्दर में नदियां मिलती हैं..!! *******जब सब तेरी मरजी से होता हे… तो ऎ खुदा, ये बन्दा गुनाहगार केसे हो गया… *******कारन अगर रोने का पूछे तो फ़कत इतना कह देना…. मुझे हँसना नही आता, जहाँ पर वो ना हो…. ******* ऐ मोहब्बत तू शर्म से डूब मर,एक शख्श को तू मेरा ना कर सकी…!!! *******नजर अंदाज करने कि कुछ तो वजह बताई होती, अब में कहाँ कहाँ खुद में बुराई ढूँढू …! *******