47

अगर रुक जाए मेरी धड़कन तो मौत न समझना….. कई बार ऐसा हुआ है तुझे याद करते करते …!! *******एक सवेरा था जब हँस कर उठते थे हम और आज कई बार बिना मुस्कुराये ही शाम हो जाती है… *******इतना शौक मत रखो इन इश्क की गलियों में जाने का.. क़सम से रास्ता जाने का है आने का नही..!! *******मरहम नहीं तो.. हमारे ज़ख़्मों पर, नमक ही लगा दो, हम तो.. तेरे छू लेने से ही,ठीक हो जायेंगे… *******“दरवाज़े बड़े करवा लिए हैं अब हमने भी अपने आशियाने के… क्योंकि कुछ दोस्तों का कद बड़ा हो गया है चार पैसे कमाकर..!!” *******तज़ुर्बा मेरा लिखने का बस इतना सा है !! मैं सुनता हूँ वाह वाह अपनी ही तबाही पर.. *******हमने भी मुआवज़े की अर्जी डाली है साहिब..!! उनकी यादों की बारिश ने खूब तबाह किया है भीतर तक ..!! ******* बीवी भी हक़ जताती है, माँ भी। शादी क्या हुई हम तो कश्मीर हो गए। *******हमने भी मुआवज़े की अर्जी डाली है साहिब..!! उनकी यादों की बारिश ने खूब तबाह किया है भीतर तक ..!! ******* बीवी भी हक़ जताती है, माँ भी। शादी क्या हुई हम तो कश्मीर हो गए। *******अभी शीशा हूँ सबकी आँखों में चुभता हूँ, जब आईना बनूँगा सारा जहाँ देखेगा.. *******” हम मेहमान नहीं…रौनक-ऐ-महफ़िल हैं, मुद्दतों याद रखोगे के जिंदगी में कोई आया था.!! *******सोचता हूँ टूटा ही रहने दूँ इस दिल को.. शायरी भी हो जाती है और जीत भी लेता हूँ कई दिलों को..! *******काश आंसुओं के साथ यादे भीं बह सकती, तो एक दिन तस्सल्ली से बैठ कर रो लेते … *******गुमान न कर अपनी खुश नसीबी का, खुदा ने चाहा तो इश्क़ तुजे भी होगा ! *******अपनी कमजोरी को कभी दुनिया के सामने मत लाओ, लोग कटी पतंग को बडी जमकर लूटते हैं… *******याद किया करो जनाब… वरना याद किया करोगे… *******मोहब्बत जीत जाएगी अगर तुम मान जाओ तो.. मेरे दिल मैं तुम ही तुम हो अगर तुम जान जाओ तो.. *******खुदकी….photo…निकालनेमें.. जरा-सा ..भी ..वक्त नही लगता.. पर..खुदकी…image ..बनानेमें… बहोत समय लग जाता है.. *******यू खाली पलकें झुका देने से नींद नहीं आती, सोते वही लोग है, जिनके पास किसी की याद नहीं होती…. ******यू खाली पलकें झुका देने से नींद नहीं आती, सोते वही लोग है, जिनके पास किसी की याद नहीं होती…. ******इंतज़ार करना बंद करो. क्योंकि सही समय कभी नहीं आता.. *******

जिन्दगी की दौड़ में..तजुर्बा कच्चा ही रह गया.. हम सिख न पाये ‘फरेब’ और दिल बच्चा ही रह गया.. दिल में रहने की इजाजत नहीं मांगी जाती…. ये तो वो जगह है जहाँ कब्ज़ा किया जाता है…..!!!!! *******“क्या लिखूँ , अपनी जिंदगी के बारे में. दोस्तों. वो लोग ही बिछड़ गए. ‘जो जिंदगी हुआ करते थे !! *******आपकी कीमत तब तक है..! जब तक आपके पास ऐसा कुछ है..! जो पैसों से ना खरीदा जा सके..!! ******* थक गया हूँ, दिल का सुकून ढूँढ़ते ढूंढते, बस खत्म कर अब ये खेल जिन्दगी.. *******परवाह नहीं चाहे जमाना कितना भी खिलाफ हो, चलूँगा उसी राह पर जो सीधी और साफ हो…! *******ये बात पता करने में तो गुगल भी नाकाम रहा है । कि कहां रहते हैं वो लोग, जो कहीं के नहि रहते ।। *******दोस्तों बडी अजीब है ये मोहब्बत वरना; अभी मेरी उम्र ही क्या है जो शायरी करनी पड़ी.. *******सुना है देर रात तक जागते हो आप लोग, यादो के मारे हो या मेरी तरह इश्क मे हारे हो ?? *******याद आते हैं तो रूला देते हैं अच्छे लोगों की यही बात बुरी होती है!!! ******* मुझे कुछ अफ़सोस नहीं के मेरे पास सब कुछ होना चाहिए था। मै उस वक़्त भी मुस्कुराता था जब मुझे रोना चाहिए था।. *******दिखावे की मोहब्बत तो जमाने को हैं हमसे ,,,,, पर ये दिल तो वहाँ बिकेगा जहाँ ज़ज्बातो की कदर होगी !! ******* चाहे कितनी भी तकलीफ दे इश्क़……! पर सुकून भी इश्क़ से ही होता है….. *******रोज़ जले फ़िर भी ना ख़ाक हुए,.. अजीब है ये इश्क़ बुझ कर भी ना राख हुए… *******बेकसूर कोई नहीं इस ज़माने मे, बस सबके गुनाह पता नहीं चलते. ******* समय बहाकर ले जाता है,.. नाम और निशान।.. कोई ‘हम’ में रह जाता है और..कोई ‘अहम’ मे ll *******में यह नहीं कहता के मेरी, खबर पुछो तुम.. खुद किस हाल में हो इतना, तो बता दिया करो.. *******अनकहे शब्दो के बोझ से थक जाता हुँ कभी-कभी…!!!!! पता नही खामोश रहना मजबुरी है या संमझदारी…..!! *******शब्दों से ही लोगों के दिलों पे राज किया जाता है, चेहरे का क्या, वो तो किसी भी हादसे मे बदल सकता है… *******ये रास्ते ले ही जाएंगे.. मंजिल तक, तू हौसला रख, कभी सुना है कि अंधेरे ने सुबह ना होने दी हो..!! *******काँच को ‘आईना’ बनाने के लिए उसके पीछे ”पारा” चढ़ाया जाता है… तभी तो जिसको ”आईना” दिखाओ… उसका ”पारा” चढ़ जाता है…… *******शर्त लगी थी जब पूरी दुनिया को एक ही शब्द में लिखने की, तो वो पुरी किताबें ढुंढ रहे थे ओर मेंने “मां” लिख दिया… *******मेरे शेर समझने के लिए जरा दिल में दर्द चाहिए, अगर समझ ना आये तो दर्द का मतलब भी बता सकता हूँ…… *******ये इश्क़ बनाने वाले की मैं तारीफ करता हूं… मौत भी हो जाती है और क़ातिल भी पकड़ा नही जाता.. *******“खाएं हैं लाखों धोखे….एक और सह लेंगे… ……तू ले जा अपनी डोली….. हम अपने जनाजे को बारात कह लेंगे ! *******मेरी तमन्ना न थी तेरे बगैर रहने की …. लेकिन मज़बूर को ,मज़बूर की ,मजबूरिया.. मज़बूर कर देती है ..!!!! *******“बहुत दिन हुए तुमने, बदली नहीं तस्वीर अपनी! मैंने तो सुना था, चाँद रोज़ बदलता हैं चेहरा अपना!!” *******दोनों ही बातों से तेरी, एतराज है मुझको, क्यूँ तू जिंदगी में आई,और क्यूँ चली गई… ******* जीने के आरजू में मरे जा रहे है लोग, मरने के आरजू में जिया जा रहा हु में. *******ये जो हर मोड़ पे आ मिलती है मुझसे, ये बदनसीबी मेरी दीवानी तो नही ? *******यूँ तो शिकायते तुझ से सैंकड़ों हैं मगर , तेरी एक मुस्कान ही काफी है सुलह के लिये.. ******* इतना भी हमसे नाराज़ मत हुआ करो, बदकिस्मत ज़रूर हैं हम मगर बेवफा नहीं। *******