44

कितने बेबस हैं हम तेरी चाहत में ……. तुझे खोकर भी हम तेरे ही हैं ……. *******बैठे थे अपनी मस्ती में कि अचानक तड़प उठे, आ कर तुम्हारी याद ने अच्छा नहीं किया। ******* न पूरी तरह से क़ाबिल, न पूरी तरह से पूरा है, हर एक शख्स कहीं न कही से अधूरा है…!! ******* अजीब दस्तूर है ज़माने का, अच्छी यादें पेनड्राइव में और बुरी यादें दिल में रखते है!!!! ******कमाल की तक़दीर पायी होगी उस सख्श ने…… जिसने तुझसे मोहब्बत भी ना की हो ,और तुझे पा लेगा….. ******* दिखावा मत कर शहर मे ‘शरीफ’ होने का... लोग ‘खामोश तो’ है... पर ‘नासमज‘ नहीं ! ! “तुम नफरत का धरना कयामत तक जारी रखो, मैं प्यार का इस्तीफा जिंदगी भर नहीं दूंगा”..!! ******* हर किसी की कोई न कोई बुरी आदत होती हैं…….. लेकिन मेरी तुम हो …. ******* “ले लो वापस…ये आँसू…ये तड़प…और ये यादें सारी… नही हो तुम अगर मेरे…तो फिर ये सजाएँ कैसी…. ******* तुझे रात भर ऐसे याद करता हूँ मैं…. जैसे सुबह इम्तेहान हो मेरा.. ******* कोई और तरीक़ा बताओ जीने का, साँसे ले ….. ले …..कर थक गये है !! ******* मशवरा तो अच्छा था उनका की, हमें भूल जाओ, साफ ही कह देते की बहुत ज़ी लिए अब मर जाओ। ******* इश्क़ का पता नही लेकिन जो तुझसे है वो किसी और से नही.. ******* “बहूत डर लगता है मुझे उन लोगों से” “जो बातों में मिठास” और दिल में ‘जहर’ रखते हैं.. ******* यु गरीब कहकर खुदकी तौहीन ना कर “ए बंदे… गरीब तो वो लोग है जिनके पास “ईमान”नही…!!!! ******* झूठ इसलिए बिक जाता है क्योकि सच को खरीदने की सबकी औकात नही है…!! ******* खैर कुछ तो किया उसने…!!! चलो तबाह ही सही…!!! ******* प्यार ख़रीदा नहीं जाता दोस्तों….!! लेकिन उसकी कीमत जरुर चुकानी पड़ती है…..!! ******* सजा ये है की बंजर जमीन हूँ अब, जुर्म ये है कि बारिशों से इश्क किया मैंने……….!! ******* मासूमियत का इससे पवित्र प्रमाण कहीं देखा है ???? एक बच्चे को उसकी माँ मार रही थी और बचाने के लिये बच्चा माँ को ही पुकार रहा था… ******* टूटे हुए काँच की तरह चकनाचूर हो गया, किसी को लग ना जाऊँ, इसलिए सबसे दूर हो गया…!!! ******* मेरी जिन्दगी को अधूरा कर दिया वाह रे मोहब्बत तुने अपना काम पूरा कर दिया. ******* झुठे हैं वो जो कहते हैं हम सब मिट्टी से बने हैं मैं कई अपनों से वाकीफ हूं जो पत्थर के बने हैं! ******* मुझे शराब की एक बात बहुत बेकार लगती है, साली खुद तो चढ़ जाती है लेकिन हमें गिरा देती है……. ******* तुम रोज हाल मत पूछा करो.. हर बार झूठ नही बोला जाता.. ******* “स्टेच्यू स्टेच्यू”…खेलते-खेलते… पता ही नहीं चला… कि… कब लोग पत्थर के हो गये…!! ******* तुम्हारे होगें चाहने वाले बहुत इस ‪#‎कायनात‬ में, मगर इस “‪#‎पागल‬ की तो कायनात ही तुम हो”.. ******* ऐ मौसम तू चाहे कितना भी बदल जा पर तुझे इंसानो की तरह बदलने का हुनर आज भी नहीं आता .. ******* कोशिश भी मत करना, मुझे संभालने की अब तुम, बेहिसाब टूटा हुं, जी भर के बिखर जाने दो मुझे.. ******* मुमकिन हो तो मेरे दिल मे रह लो इससे हसीन मेरे पास कोई घर नही. ******* खफा रहने का शोक भी पूरा कर लो तुम, लगता है तुम्हे हम ज़िंदा अच्छे नहीं लगते… कर ली ना तसल्ली तुमने दिल तोड़कर मेरा… मैने कहा भी था कुछ नही हैं इसमे तुम्हारे सिवा….. ******* बातें तो बहुत है मोहहब्बत बयां करने के लिए.. पर जो ख़ामोशी नही समझ सकते,वो बातें क्या समझेंगे !!! ******* नींद से क्या शिकवा जो आती नहीं रात भर, कसूर तो उस खयाल का है जो सोने नही देता.. ******* कौन कहता हैं वक़्त दोहराता हैं अपने आप को अगर ये सच हैं तो मेरा बचपन तो लौटाए कोई ******* काश….मेरे लिए तुम मौत होते यकीन तो रहता कि एक दिन जरूर आओगे… ******* ख्वाब आँखों से गए और नींद रातों से गयी… वो जिंदगी से गए और जिंदगी हाथों से गयी..!! ******* छोड़ दी सारी खाव्हिश जो तुझे पसंद ना थी ए दोस्त, तेरी दोस्ती ना सही पर तेरी ख्वाहिश आज भी पूरी करते है !! ******** अगर बनना है तो उस तालाब की तरह बनो..! जहाँ शेर भी पानी पिता है और बकरी भी… “मगर सर झुका के….! ” ******* समझ नहीं आ रहा कि जिंदगी तुझे भुलाने में कट रही है,या तुझे याद करने में…! ******* मेरी बरबादियों में तेरा हाथ है मगर….?? ” मै सबसे कह रहा हूँ ये “मुकद्दर” की बात है…!! ******* “क्या लिखूँ , अपनी जिंदगी के बारे में दोस्तों , वो लोग ही बिछड़ गए , जो जिंदगी हुआ करते थे” !! ******* ऐ ज़िँदगी, अब तू ही रुठ जा मुझसे.. ये रुठे हुए लोग, मुझसे मनाए नहीँ जाते… *******

छूप छूप कर तेरी सारी तस्वीरें देखता हूँ, बेशक तू खूबसूरत आज भी है, **कल क्या खूब इश्क़ से मैने बदला लिया.. कागज़ पर लिखा इश्क़ और उसे ज़ला दिया… ******** कभी-कभी पत्थर की ठोकर से भी नहीं आती खरोंच..! और कभी ज़रा सी बात से इंसान बिखर जाता है..! ******* हमने तो मोहब्बत छोड़ दी; लेकिन मोहब्बत ने हमें कही का नहीं छोड़ा..! *******इश्क करना है तो दर्द भी सेहना सीखो, वर्ना ऐसा करो औकात मे रहना सीखो.. *******अजीब सौदागर हैं ये वक़्त भी।। जवानी का लालच दे के बचपन ले गया *******बोलने का हक़ छीना जा सकता है मगर ख़ामोशी का नही।।। *******निग़ाहों में अभी तक दूसरा कोई चेहरा ही नहीं आया.. !! भरोसा ही कुछ ऐसा था,तेरे लौट आने का…!! ******* है परेशानियाँ यूँ तो,बहुत सी मेरी ज़िंदगी मे, लेकिन तेरी मोहब्बत के सिवा और कोई तंग नहीं करता.. *******मैं जब किसी फ़क़ीर को हँसते हुवे देखता हूँ। तो यकीन हो जाता है की…. खुशियों का तालुक दौलत से नही है.. ******* तुम इतना जो डूब के लिखते हो, समझनहीं आता, फिर बचके कैसे निकलते हो !! *******कुछ लोग जिंदगी होते है…. मगर जिँदगी मेँ नहीँ होते… *******ये न कहना कि प्यार फर्ज़ी है करना न करना तुम्हारी मर्ज़ी है ******* तुझे भूलने के लिए मुझे सिर्फ़ एक पल चाहिए, वह पल! जिसे लोग अक्सर मौत कहते हैं. *******वो किताबो में दर्ज़ था ही नही, सिखाया जो सब़क ज़िन्दगी ने ! *******