जानिये, पुराण प्रसिध्द दस अवतार किसने लिये ? और बाकी अवतार किसने लिये ?

जानिये, पुराण प्रसिध्द दस अवतार किसने लिये ? और बाकी अवतार किसने लिये ?



आईये जानते कौन सा अवतार किसने लिया।

(1) मत्स्य अवतार :- वैकुंठवासी विष्णू के सेवक 'वज्रनाभ' नामक देवता ने लिया और शंखरासुर का वध किया।

(2) कच्छ अवतार :- क्षिराब्धी के महाविष्णूजी ने लिया और अमृतमंथन के वक्त मदरांचल पर्वत पिठ पर धर लिया।

(3) वराह अवतार :- वैकुठवासी विष्णूजी ने लिया और हिराण्याक्षक का वध करके पृथ्वी स्वस्थान पर रख दी।

(4) नृरसिंह अवतार :- क्षिराब्धीवासी महाविष्णूजी के आज्ञा से कर्मभुमी के 'यक्षणी' नामक देवताने लिया, और हिरण्यकश्यपु का वध करके भक्त प्रल्हाद का रक्षण किया।

(5) वामन अवतार :- विश्वरुप विराट परम् विष्णुजी ने लिया, और राक्षसो के राजा 'बली' को पाताल मेँ धकेल दिया।

(6) परशुराम अवतार :- महाविष्णू की आज्ञा से कैलासवासी महादेव ने लिया, और 21 बार पृथ्वी निक्षत्रिय कर डाली।

(7) राम अवतार :- अष्टभैरव मेँ से महद् विष्णुजी ने लिया और रावण का वध करके बिभीषण को राज्य दिया।

(8) कृष्ण अवतार :- श्रीकृष्ण अवतार परब्रम्ह परमेश्वर ने लिया कंस का वध करके, श्रीमद्भागवत गिता शास्त्र बताकर अर्जुन और उध्दव को ज्ञान दिया, गोपीओँको, रुख्मिणी को प्रेमदान देकर अंनत जिवोँका उध्दार किया।

(9) बौध्द अवतार :- सत्यलोक के ब्रम्हदेव ने लिया और यज्ञयागोँ मेँ सेँ प्राणी हिंसा चुकाणे के लिये बौध्द धर्भ की स्थापना करके अहिंसा मार्ग दिखाया।

(10) कलंकी अवतार :- आने वाले वक्त मेँ ब्रम्हदेव लेंगे 'हिंसा' ये अर्धम बहोत बढेगा, उसे मोडकर स्वर्धम स्थापन करेंगेँ।

(1) लक्ष्मण :- 'शेष' देवता का अवतार

(2) हनुमान :- ग्याराह रुद्रोँ मेँ से 'ईशान रुद्र' का अवतार

(3) भक्त प्रल्हाद :- महाविष्णुजी का सेवक विश्वभर का अवतार

(4) बलराम :- 'चैतन' नामक देवता का अवतार

(5) शंकरार्चाय :- कैलासवासी महादेव का अवतार

(6) बिभिषण :- पिछले जन्म का प्रल्हाद है

(7) लक्ष्मी :- क्षिराब्धि के 'महाविष्णुजी' की पत्नी

(8) कमला :- वैकुंठ के 'सहज विष्णुजी' की पत्नी

(9) विष्णु :- 13 आदित्यो मेँ से पहिला 'विष्णु' नाम का सुर्य, वही 'आदित्यामहं विष्णु' है।

(10) श्रीदत्त, दुर्वास, सोम :- अत्रि अनुसुया के पुत्र तथा, श्रीदत्तात्रेय परब्रम्ह परमेश्वर के अवतार हैँ। परमेश्वर के युग युग मेँ हुये अवतार जानिये... यहां किल्क करके

(11) राधा :- यकीन मानिये, भगवान श्रीकृष्ण के जिवन पर लिखा गया शास्त्र श्रीमदभागवत कथासार महापुराण मेँ किसी भी पन्ने मेँ 'राधा' नाम ढुंढने से भी नहीँ मिलता। 'राधा' के बारे मेँ अधिक जानकारी जानिये... यहां किल्क करके

(12) रुख्मिणी :- श्रीकृष्ण की 16108 पत्नीओँ मेँ श्रीकृष्ण पर सबसे अधिक प्रेम करने वाली पत्नी तथा एक साधारण जिवात्मा।

रुख्मिणी तथा 16108 पत्नीयो के बारे मेँ जाने...के बारे मेँ अधिक जानकारी जानिये...के बारे मेँ अधिक जानकारी जानिये...के बारे मेँ अधिक जानकारी जानिये... यहां किल्क करके

मामेकं शरणं व्रज' ॥ (18-66)

सभी देवी देवताओँ की भक्ती करने से हमे मोक्ष नहीँ मिल सकता

भगवान श्रीकृष्णजी नेँ कहा की सिर्फ मेरी ही शरण आ जाओ मैँ तुम्हे सभी पापोसे मुक्त करके मोक्ष दुंगा, ये प्रतिज्ञा लेकर बताता हुं।



कुछ प्रश्न और उनके समाधान