क्या "देवी-देवताओ" की संख्या असल मेँ 33 कोटी है ? या कुछ और ? तथा कौन से है उनके स्थान ?


क्या देवी-देवताओ की संख्या असल मेँ 33 कोटी है ? या कुछ और ? और कौनसे है उनके स्थान ?


देवताओँ की संख्या असल मेँ 33 कोटी नहीँ है, 33 कोटी तो एक ही स्थान की सख्या हैँ पर ऐसै 9 स्थान हैँ। तो आईये जानते हैँ उनके स्थान, नाम और संख्या।

प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरुरत नहीँ होती फिर भी

प्रमाण :-

कर्मयोनीर्देवयोनीरंतरालं सुरालयम् ।

सत्य कैलास वैकुंठे क्षीराब्धी भैरवस्तथा ॥1॥ .

विश्वरुपंच्‌ चैतन्य मेतन्माया स्वरुपम्‌ ।

मत्या परं भवेत ब्रह्म तत्परं केवलं विभु: ॥2॥ .

- निर्वचनोपनिषद्‌

(1) कर्मयोनी,

(2) देवयोनी,

(3) अंतराल,

(4) सुरालय - स्वर्ग,

(5) सत्य, कैलास, वैकुंठ,

(6) क्षिराब्धी,

(7) भैरव,

(8) विश्वरुप,

(9) चैतन्यमाया (योगमाया / प्रकृति/ आदीशक्ति),

(10)केवल विभु - परमेश्वर

इत्यादी देवता निर्वचनोपनिषद्‌ दिये गये है।

स्थान निचे से उपर तक।

(9) कर्मभुमी :- 13 कोटी, मुख्य राजा - यक्षणी

(8) अष्टदेवयोनी :- 13 कोटी, मुख्य राजा - सांब

(7) अंतराल :- 13 कोटी, मुख्य राजा - चित्रसेन

(6) स्वर्ग :- 33 कोटी, मुख्य राजा - इंद्र (11 कोटी),

चंद्र (11 कोटी),

सुर्य (11 कोटी)

(5) सत्य, कैलास, वैकुंठ :- 9 कोटी, मुख्य राजा -

ब्रम्हदेव (3 कोटी),

सहजविष्णू (3 कोटी),

महादेव (3 कोटी)

(4) क्षिराब्धी :- 1 लक्ष 25 हजार, मुख्य राजा - महाविष्णू

(3) अष्टभैरव :- सिर्फ 8,

(1) कराली

(2) विक्राली

(3) उमापती

(4) पशुपती

(5) सदाशीव

(6) ब्रम्हा

(7) महदविष्णू

(8) महेश

(2) विश्वरुप :- एक, विराट (परमविष्णू)

(1) माया/प्रकृति :- एक, चैतन्यमाया (योगमाया / प्रकृति/ आदीशक्ति),

परब्रम्ह परमेश्वर :- सच्चिदानंद निर्गुण निरामय निराकार अनंत कोटी ब्रम्हाण्ड नायक परमेश्वर

इस प्रकार देवी देवताओँ की कुल संख्या 81 कोटी, सवा लक्ष 9, दसवी चैतन्यमाया और ग्यारहवा परमेश्वर।




कुछ प्रश्न और उनके समाधान